माँ – प्यारी माँ – मेरी माँ (Quotes On Mother In Hindi, Essay On Mother In Hindi

Table of Contents

मां तो जन्नत का फूल है,
प्यार करना उसका उसूल है ।
दुनिया की मोहब्बत फिजूल है ,
मां की हर दुआ कबूल है।।

एक इंसान मां को नाराज करना तेरी भूल है,
मां के कदमों में की मिट्टी जन्नत की भूल है।

माँ – प्यारी माँ – मेरी माँ (Quotes On Mother In Hindi, Essay On Mother In Hindi

मां बनेगी पढ़ी लिखी भले ही पढ़ी लिखी हो या नहीं,
संसार का दुर्लभ और महत्वपूर्ण ज्ञान हमें माँ से ही प्राप्त होता है।

मुझे इतनी फुर्सत कहां की अपनी तकदीर का लिखा देखूं ,
बस मां की मुस्कुराहट देखकर समझ जाती हूं कि मेरी तक़दीर बुलंद है।

मां की ममता से बड़ा दुनिया में कुछ भी नहीं ,
इस दुनिया में बिना किसी स्वार्थ से प्यार सिर्फ माँ ही कर सकती है।

मां जो भी बनाए, उसे बिना नखरे किये खा लिया करो
क्योंकि दुनिया में ऐसे लोग भी हैं,
जिनके पास या तो खाना नहीं होता या मां नहीं होती।

जिंदगी की पहली टीचर मां ,
जिंदगी की पहली फ्रेंड मां।
जिंदगी जिंदगी भी मां,
क्यों की जिंदगी देने वाली भी मां।।

घर में मां होती है वहां सब कुछ सही रहता है।।

रुके तो चांद जैसी है ,
चले तो हवाओं जैसी है,
वह माँ ही है जो धूप में भी छांव जैसी हैं।

मैं रात भर जन्नत की सैर करती रही ,
सुबह सुबह आंख खुली,
तो देखा मेरा सिर मां के कदमों में था।

उसके होठों पर कभी बद्दुआ नहीं होती ,
बस एक मां है जो कभी खफा नहीं होती।

कौन कहता है कि फरिश्ते स्वर्ग में रहते हैं,
कभी अपनी मां को गौर से देखा है।

अजब दुनिया की गजब कहानी ,
बचपन में लड़ते थे कि मां मेरी है मां मेरी है,
किंतु अब बड़े होकर लड़ते हैं कि मां तेरी है, मां तेरी है।

नफरत है मुझे हर इंसान से,
जो छोटी-छोटी बातों में,
अपनी मां की कसम खाकर,
उसे दांव पर लगा देते हैं।

मां की दुनिया की वह हस्ती होती है,
जिनके कदमों के नीचे जन्नत होती हैं।

आपको मेरा  ये आर्टिकल कैसा लगा। आप  अपनी राय Comment  Box में लिख सकते  है । धन्यवाद।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *