शिक्षक दिवस पर विशेष (Teachers Day Special, Inspirational Message For Teachers Day, Heart Touching Message For Teachers)

और जब आप गलतियां करते हो उन गलतियों से भी आप बहुत कुछ सीखते हो । आपका सबसे Best Teacher आपकी कोई आखिरी गलती है । जो आपको बहुत कुछ  लाइफ में सिखाती है । तो आप जानोगे  की  आप की आखिरी गलती यानी Mistake ही आपकी सबसे Best Teacher  है।

शिक्षक दिवस पर विशेष (Teachers Day Special, Inspirational Message For Teachers Day, Heart Touching Message For Teachers)

आपने स्कूल की पढ़ाई शुरू होने से लेकर कॉलेज की पढ़ाई खत्म होने तक टीचर डे सेलिब्रेट किया होगा।  हर साल 5 सितंबर को Teachers  Day यानी शिक्षक दिवस मनाते हैं आखिर Teachers Day 5 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है । इसके पीछे केे कारण को हम इस आर्टिकल में जानेंगे तो चलिए शुरू करते हैं

शिक्षक दिवस मनाने का कारण (Reason for celebrating Teachers Day In Hindi)

देश के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के बर्थडे पर जन्मदिन के मौके पर हर साल 5 सितंबर को टीचर्स डे मनाया जाता है। आपको बता दूं कि डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन राष्ट्रपति के साथ-साथ एक टीचर भी थे । उन्होंने 40 सालों तक टीचर के टीचर के रूप में कार्य किया । डॉक्टर राधाकृष्णन अपने राष्ट्रप्रेम के लिए भी जाने जाते हैं। अंग्रेजी सरकार ने उन्हें सर की उपाधि से सम्मानित किया था। देश में Teachers Day मनाने की परंपरा तब शुरू हुई थी ।शिक्षक दिवस पर विशेष (Teachers Day Special, Inspirational Message For Teachers Day, Heart Touching Message For Teachers)

जब डॉक्टर राधाकृष्णन  1962 में राष्ट्रपति बने और उनके छात्रों ने उनका जन्मदिन मनाने की उन से परमिशन मांगी। इस पर डॉक्टर राधाकृष्णन ने कहा परमिशन तभी दी जाएगी। जब मेरा जन्मदिन मनाने की बजाय देशभर के शिक्षकों का दिवस आयोजित करें । मतलब Teachers Day  मनाएं। उसी साल से यानी 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाना शुरू किया गया। उसके बाद जो सिलसिला चला पूरे देश भर के शिक्षकों में Teacher Day मनाया जाने लगा।

डॉक्टर  सर्वपल्ली  राधाकृष्णन  का का जीवन परिचय (Introduction Of Life Of Doctor Sarvapalli Radhakrishnan In Hindi)

डॉक्टर राधाकृष्णन का जन्म तमिलनाडु के चेन्नई के पास  तिरुतनी नामक एक गांव में 1818 को हुआ था ।  उन्होंने फिलॉस्फी में M.A. किया। और 1916 में मद्रास रेजीडेंसी कॉलेज में  फिलोसोफी के असिस्टेंट प्रोफेसर बने। फिर बाद में कुछ सालों बाद प्रोफेसर बने।

शिक्षक दिवस पर विशेष (Teachers Day Special, Inspirational Message For Teachers Day, Heart Touching Message For Teachers)

भारत की स्वतंत्रता के बाद भी डॉक्टर राधाकृष्णन ने अनेक महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया। और इस संस्था की यूनेस्को नामक संस्था की कार्य समिति के अध्यक्ष बनाए गए । 1949 से 1952 तक रूस की राजधानी मास्को में भारत के राजदूत पद पर रहे ।भारत रूस की मित्रता बढ़ाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा। और 1952 में वे भारत के उपराष्ट्रपति बनाए गए।  उसके बाद उन्हें देश का सबसे बड़ा सम्मान भारत रत्न प्रदान किया गया । 13 मई 1962 को डॉक्टर राधाकृष्णन भारत के दूसरे राष्ट्रपति बने । 1967 तक राष्ट्रपति के रूप में उन्होंने कार्य किया ।

शिक्षक दिवस पर विशेष (Teachers Day Special, Inspirational Message For Teachers Day, Heart Touching Message For Teachers)

Facebook Fan Page

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *